फ्रिज में कौन सी गैस होती है? | Fridge Mein Kaun Si Gas Hoti Hai

Fridge Mein Kaun Si Gas Hoti Hai | फ्रिज में कौन सी गैस होती है?

अगर आपके घर में रेफ्रिजरेटर है तो अक्सर आपको प्रश्न आता होगी की इतनी सारी वस्तुओं को फ्रिज कैसे ठंडा करता है या फिर रेफ्रिजरेटर में कौन सी गैस होती है.

इसलिए आज हम इस आर्टिकल में आपको कुछ रेफ्रिजरेटर के बारे मे अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर देने वाले है.

रेफ्रीजिरेटर गैस क्या होती है?

फ्रिज में आपके खाने को सामान्य तापमान से ठंडा रखने के लिए केमिकल गैस का उपयोग होता है जो की फ्रिज के कंप्रेसर में मौजूद होती है. ये गैस काफी जल्दी हवा में घुल जाती है इसलिए इस एक हवाबंद कंटेनर में सील किया जाता है जिससे सालों साल आपको रेफ्रीजिरेटर कूलिंग देती है. 

परन्तु कुछ साल पहले की बात करे तो रेफ्रीजिरेटर में R22 Chlorofluorocarbons, R438A Freon  जैसी घातक गैस हुयी करती थी जो की ओजोन लेयर को कम करने में काफी जिम्मेदार थी लेकिन आजकल के रेफ्रीजिरेटर में एनवायरमेंट फ्रेंडली गैस आती है जो कि बेहतर कूलिंग और और सुरक्षित होती है. 

फ्रिज में इस्तेमाल होने वाली ४ प्रकार की गैस

इंडिया में मुख्य तौर से ४ प्रकार की गैस रेफ्रीजिरेटर में इस्तेमाल होती है.

(Source)

RefrigerantGlobal Warming PotentialOzone Depletion Potential
R-221810Medium
R-410A2088Zero
R-32675Zero
R-134A1430Zero
R-2903Zero
R-600A3Zero

1. Tetrafluoroethane:

आमतौर इंडिया में घरेलू रेफ्रिजरेटर में Tetrafluoroethane गैस का इस्तेमाल किया जाता है. ये गैस काफी पतली होती है जो हवा में काफी जल्दी घुल जाती है इसलिए इस गैस को एक कंटेनर में कंप्रेस कर कर स्टोर किया जाता है. 

इस गैस हाई प्रेशर पर रखने से इसके मौजूद तापमान काफी घट जाता है और इसी तरह आपको फ्रिज में कूलिंग मिलती है. 

वैसे ही रेफ्रीजिरेटर की बात करे तो इस गैस को कंप्रेस कर में फ्रिज में हाई प्रेशर पे डाला जाता है. और इसलिए ये कंप्रेसर में सालों साल चलती है और आपको साल साल कूलिंग देती है. 

अगर वातावरण में ये गैस खुली छोड़ी तो पर्यावरण के लिए हानिकारक होती है लेकिन अगर इस गैस को कंटेनर में सील्ड रखे तो सालों साल इसका इस्तेमाल किया जाता है. 

2. Chlorofluorocarbon:

९० के दशक से ही Chlorofluorocarbon गैस का इस्तेमाल रेफ्रीजिरेटर में किया जाता था. और आजकल भी ये गैस घरेलू रेफ्रिजरेटर में काफी इस्तेमाल होती आयी है.

और इस गैस के बारे में में भी बोला जाय तो ये भी एक लिक्विड गैस होती है. जो हवा के संपर्क में आती ही गैस बन जाती है. इसलिए इसे प्रेशर दे की इस कंप्रेस किया जाता है और लिक्विड में कन्वर्ट किया जाता है.

जैसे ही इस गैस को लिक्विड फॉर्म में लाया जाता है ये काफी ठंडी हो जाती है और अपने आस पास के वातावरण को भी ठंडा  करती है इसलिए इस रेफ्रीजिरेटर में काफी सहजता से इस्तेमाल किया जाता है. 

3. R-22

आज से अगर आप १५ से २० साल पहले की बात करे तो r२२ गैस को रेफ्रीजिरेटर में काफी इस्तेमाल किया जाता था और हर एक रेफ्रीजिरेटर में ये काफी इस्तेमाल होती थी. 

लेकिन जैसे ही कुछ सालों बाद ग्लोबल वार्मिंग और ओजोन लेयर  का खतरा सब पर मंडराने लगा तो सरकार ने इस गैस पर पाबन्दी लायी पौर कुछ नए और पर्यावरण के लिए सुरक्षित गैस का स्वागत किया. 

इस गैस की बात करे तो ये हवा में खुलने के बाद ये काफी मात्रा में मानव और पर्यावरण के लिए घातक है. और ग्लोबल वार्मिंग के लिए भी ये गैस काफी खतरनाक है. 

और इस गैस की कार्यशैली के बारे में बोले तो ये भी गैस हवा के फॉर्म में आती है जिसे कंप्रेस कर कर लिक्विड फॉर्म में लाया जाती है और रेफ्रीजिरेटर के ट्यूब में भरकर इस रेफ्रिजरेटर में रेफ्रिजरेंट की तरह इस्तेमाल किया जाता था. 

4. R-600A

आजकल के रेफ्रीजिरेटर की बात करे तो आजकल R-600A गैस का इस्तेमाल आधुनिक फ्रिज में काफी किया जाता है. इस गैस की खास बात बताये तो ये गैस पिछले कई वेरिएंट से काफी बेहतर है ये काफी जल्दी ठंडा और कूलिंग इफ़ेक्ट देती है. 

मगर इसकी भी कार्यप्रणाली पिछले गैस की तरह ही है इसे एक कंटेनर में कंप्रेस करके इस्तेमाल किया जाता है. 

लेकिन इस गैस की सबसे अच्छी खूबी बताएं तो ये हमारे पर्यावरण के लिए काफी बेहतर है. जिससे ये ग्लोबल वार्मिंग को कम करने में और ओजोन लेयर के हानि को कम करने में काफी मदद करती है. 

क्या आप घर में रेफ्रिजरेटर गैस बदल सकते है?

अगर आपको आपके फ्रिज में इस्तेमाल होने वाले गैस पता है तो क्या आप इसे घर में बदल सकते है? ऐसा सवाल आपके मन में काफी बार आता होगा लेकिन अगर संक्षिप्त में बोले तो ऐसा होना बहुत ही कठिन है.

रेफ्रिजरेटर में कंप्रेसर में गैस मौजूद होती है जोकि हीट वेल्डिंग के साथ कंप्रेसर में सील करी जाती है. जो की सही तापमान में भर कर सही मात्रा में इस्तेमाल की जाती है. और अगर आप ये गैस घर में भरने की सोचे तो पहले तो आपको आपके फ्रिज में कौनसी गैस डालने है इसमें कन्फूशन होगी और ये गैस आमतौर पर जल्दी मिलती भी नहीं है ऊपर से आपको हीट वेल्डिंग के लिए कुछ उपकरण भी लगेंगे।

इसलिए हमारी माने तो आप किस टेक्नीशियन को बुलाकर, जिसे की रेफ्रीजिरेटर के बारे में नॉलेज है उसे अपना काम सौंप सकते है जो की कुछ ही घंटों के आपके घर आकर कर देगा. 

क्या रेफ्रिजरेटर गैस हानिकारक होती है?

रेफ्रिजरेंट गैस एक केमिकल गैस होती है जिसमें ब्यूटेन, ऑक्साइड, Acrylonitrile जैसे केमिकल्स होते है. अगर ये गैस आपके फेफड़ों के अंदर कुछ मात्रा मि गयी तो आपको ज्यादा मुश्किल नहीं होगी लेकिन अगर ये गैस आपके साँस से अंदर ज्यादा मात्रा में गयी तो काफी बुरे परिणाम हो सकते है. जैसे अच्छे

  1. साँस लेने में तकलीफ 
  2. उल्टी आना 
  3. ठंड लगना
  4. चक्कर आना

और कुछ खतरनाक परिणाम जैसे की 

  1. खून की उल्टी आना 
  2. फेफड़ों में खून भरना 
  3. बेहोश होना

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने फ्रिज में इस्तेमाल होने वाले ४ प्रकार के रेफ्रिजरेटर के बारे मे जानकारी दी और रेफ्रिजरेटर के बारे मे अक्सर आने वाले प्रश्नों को भी बहुत ही सहजता से बताया अगर आपको रेफ्रिजरेटर की गैस के बारे मे जानकारी चाहिए थी तो जाहिर है आपको इस आर्टिकल से काफी  होगी।

अगर आप इस आर्टिकल से संतुष्ट है तो आप इस आर्टिकल को शेयर भी कर सकते है.

अंत में 

धन्यवाद 

आपका दिन शुभ हो. 

हेलो दोस्तों मेरा नाम शुभम बनसोडे है. और में एक Affiliate Marketer, और Blogger हूँ. और इस वेबसाइट पर में आपके लिए विविध चीज़ों का Unbiased रिव्यु करता हूँ. Linkedin | Facebook

Leave a Comment